SHEIKH CHILLI LYRICS – RAFTAAR’s Reply to Emiway Bantai’s “Samajh mein aaya kya”


Sheikh Chilli Lyrics:

Singer: Raftaar
Music: Raftaar & Instine
Lyrics: Raftaar
Video Director: Grim

शीक चिल्ली लिरिक्स - Sheikh Chilli Lyrics

यॅ, रफ़्तार!

ई’म साद यह करना पड़ा यार
शीक चिल्ली
शीक चिल्ली
शीक चिल्ली

सुन्न,
तू भाई नही यानी की तू बंटाई नही है
तू बंटाई छ्चोड़ तू तो बंदा ही नही है
चुप रहना मेरा बनता ही नही
मुझे सब दिखता है मेरी बंद आइ नही है

तेरा भाई बाबू भंडाई नही है
वो सच बोलता है, सच जमता ही नही है
तेरे मेरे जैसे बोहट करे काम
पर सीन मे कोई ख़ास ज़्यादा धनदा ही नही

सक्चाई यही है की ऑपर्चुनिटी नही
सक्चाई यही है लोगों में नही यूनिटी
ईगो है पहाड़ पे
यह खुद चने के झाड़ पे
यह खुद की मुदके चाटें
बोलें दुनिया मुझको पूजती

मैं तेरा भाई, तेरा भाई
जो तू नही मेरा भाई
तो तबाही है, तबाही
तू होगा हाइ मेरे भाई
जो तूने सुनके इंटरव्यू
अकल नही चलाई

कड़क बॅन. मत बॅन तू ढोकला
आकल्मंद नही छ्होटे तू तो निकला दोगला
लड़कपन में भी निकला नोट हार्ड
सड़क बंद, आयेज बंद नाका तेरे रोड का

याद दीलओन क्या?
आए आए…
याद दिलौं क्या?
छ्होतते…
याद दीलओन क्या?

याद दिलौं तू मिलने को आया था
मैने बुलाया था
साथ बिताया था
खाना खिलाया था
वापस ना भेजा होटेल में सुलाया
बांद्रा के स्टूडियो में बुकिंग कराया

पर्पल हेज़ स्टूडियोस
नाम याद में आया क्या?
स्टूडियो वाला किराया तुझसे भराया क्या?
अपने से पिच्चे बताया क्या?
अपने से नीचे दिखाया क्या?

अपने सीने से लगाया था
कितनी खुशी से मैं गाना कराया था
डुब्ब तेरा
तब तेरा तेवर अलग था
तू लड़का कड़क था
मुझे आया तुझपे भी प्यार गाज़ाब का
तो लिखा तेरा आधा वर्स सड़क का

आजा मुक़दमा बीतता हूँ
सदमा लगा है तो बाद में आता हूँ
तुझको तो याद ही होगा
जो याद नही है तो याद दिलाता हूँ

विराल ना होता से लेबल का रोक नही
यह लाइन’ओं का राज़ तू कभी नही खोलेगा
मा की कसम मुझे अब तेरी बारी
तू सक्चा मुसलमान झूठ नही बोलेगा
झूठ नही बोलेगा
यह लड़का झूठ नही बोलेगा
यह कुछ भी नही बोलेगा
तोड़ा भी नही अब यह मूट ही हो लेगा

दुख है के मुझको बताना पड़ा
जताना नही था
जताना पड़ा
मेरे घर पे तू डिश खा के
मुझपे ही डिस लाया
मुझको भी लंगर लगाना पड़ा

नाचे तू फ्लो में, आए
मेरे देल्ही के शो पे, आए
मैने सबसे मिलाया था, आए
खुद पीच्चे का होके

मुंबई में शो था
तू मेरा ब्रो था
ब्रो ही ना होता तो शो पे ना होता
मैने तुझे सिर्फ़ इज़्ज़त दिलाई है
भाई को दुख है की इज़्ज़त पे आई है
इज़्ज़त कमा के ना इज़्ज़त गँवा
शो पे जो थे वो हैं मेरे गवाह
उंगली दबा छ्होटे मुट्ठी बना
गुस्सा तू कर पर मुँह को ना सदा

बचपाना, बचपाना
बचकानी बातें बंद कर ज़रा सच बता
पैसे की बात ही नही थी
मैने बोला डिवाइन बड़ा है तू तब सदा
आज का सच यही है
की हाल फिलहाल उसकी इज़्ज़त बड़ी है
(बड़ी है)
तू पिक्चर में आ रहा है छ्होटे
नेज़ी और उसपे वो पिक्चर बनी है

सच, चलती है गली गली गली गांग
तभी तो एमी’ की जाली जाली जाली गंद
हल्की है बातें, हेवी बस स्लॅंग
कल का है तू, हल्का है तेरा प्लान

समझ में आया क्या?
समझ में आया.
मगज में आया?
मगज में आया.
याद में आया क्या?
याद में…

मैं तेरे बाद में आया क्या?
चिल्लाने से बनते गाने क्या?
चिल्लाने से बनते शाने क्या?
एडे छाले करके पब्लिक को बनरे ये
पब्लिक में अंधे या काने क्या

जनता की शांता है ममता भी देगी
और जमता नही है तो घंटा ही देगी
बातों का मतलब बदल के बताने से
सोचे की जल्दी से जनता बढ़ेगी

भाई से सीधा तू छ्होटे पे, ना!
उमर में मुझसे यह छ्होटे हैं, हन!
सीखा मैने तुझको अपना बनके की
अपने ही कमीने होते हैं
कमीने होते हैं
अपने ही कमीने होते हैं

समझ में आ गया छ्होटे मुझको
समझ में आ गया!
आए.. हाः!

चल कुछ बात और
ध्यान से सुन’ना
तू मुझे छ्होटा बोला
क्यूँ की ईगो तेरी हर्ट है
मैं तुझे छ्होटा बोला
क्यूंकी 8 साल का फ़र्क है
छ्होटे तू शाहरुख नही
शाहरुख बस एक है
और तू शाहरुख शीक नही
शाहरुख स्नेक है
हिस्स्स्सस्स

सचाई है यह गाना नही डिस
समझ में आया क्या.