Manzoor e Khuda Lyrics :

Singers: Shreya Ghoshal, Sunidhi Chauhan, Sukhwinder Singh
Music: Ajay-Atul
Lyrics: Amitabh Bhattacharya
Director: Vijay Krishna Acharya

मंज़ूर-ए-खुदा लिरिक्स - Manzoor-e-Khuda Lyrics

बाबा लौटा दे मोहे गुड़िया मोरी
अंगना का झूलना भी
ईमली की दार वाली मुनिया मोरी
चाँदी का पैइन्जना भी

इक हाथ में चिंगारियाँ
इक हाथ में साज़ है
हँसने की है आदत हूमें
हर घाम पे भी नाज़ है

आज अपने तमाशे पे महफ़िल को
करके रहेंगे फिदा
जब तलाक़ ना करें जिस्म से जान
होगी नही ये जुड़ा

मंज़ूर-ए-खुदा
मंज़ूर-ए-खुदा
अंजाम होगा हुमारा जो है
मंज़ूर-ए-खुदा
मंज़ूर-ए-खुदा (मंज़ूर-ए-खुदा)
मंज़ूर-ए-खुदा (मंज़ूर-ए-खुदा)
टूटे सितारों से रोशन हुआ है
नूवर-ए-खुदा

हो चार दिन की घुलमी
जिस्म की है सलामी
रूह तो मुद्ड़ातों से आज़ाद है
हो.. हम नहीं हैं यहाँ के
रहने वेल जहाँ के
वो शहेर आअसमान में आबाद है

हो खिलते ही उजड़ना है
मिलते ही बिच्छाड़ना है
अपनी तो कहानी है यह

काग़ज़ के शिकारे में
दरिया से गुज़रना है
ऐसी ज़िंदगानी है यह

ज़िंदगानी का हुंपे जो है क़र्ज़
कर के रहेंगे आडया
जब तलाक़ ना करें जिस्म से जान
होगी नही ये जुड़ा

मंज़ूर-ए-खुदा
मंज़ूर-ए-खुदा
अंजाम होगा हुमारा जो है
मंज़ूर-ए-खुदा
मंज़ूर-ए-खुदा (मंज़ूर-ए-खुदा)
मंज़ूर-ए-खुदा (मंज़ूर-ए-खुदा)
टूटे सितारों से रोशन हुआ है
नूवर-ए-खुदा

बाबा लौटा दे मोहे गुड़िया मोरी
अंगना का झूलना भी
ईमली की दार वाली मुनिया मोरी
चाँदी का पैइन्जना भी

अमिताभ बच्चन डाइलॉग
आज़ादी है गुनाह
तो क़ुबूल है सज़ा
अब तो होगा वोही
जो है मंज़ूर-ए-खुदा